Category: CareerSlider News

प्रेग्‍नेंसी के दौरान खाएं फाइबरयुक्‍त आहार, प्री-एक्लेम्पसिया का खतरा होगा कम

Adhunik Samachar

अध्ययन बताते हैं कि फाइबर से भरपूर आहार बच्चे और मां दोनों को स्‍वस्‍थ रखने के साथ प्री-एक्लेमपसिया के खतरे को कम करने में मदद करता है। इसलिए हर महिला को गर्भावस्‍था के दौरान फाइबर से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए।

स्वस्थ और फाइबर युक्त आहार का सेवन सभी के लिए आवश्यक माना जाता है। लेकिन गर्भावस्था के दौरान हाई फाइबर युक्त आहार कई बीमारियों के खतरे को कम कर सकता है। स्‍वस्‍थ जच्‍चा-बच्‍चा के लिए पौष्टिक आहार बेहद जरूरी होता है। हाल में हुए एक नये शोध के अनुसार, हाई फाइबरयुक्‍त आहार के सेवन से प्री-एक्लेमपसिया के खतरे को कम करने में मदद करता है। नेचर कम्युनिकेशंस नामक पत्रिका में प्रकाशित शोध में सिडनी विश्वविद्यालय के प्रमुख लेखक प्रोफेसर 'राल्फ़ नानन' ने इस बात पर जोर दिया कि कैसे हाई फाइबरयुक्‍त आहार मां और भ्रूण स्‍वस्‍थ रखने के साथ उनमें रोग प्रतिरक्षा को बढ़ाता है। 

हालांकि, अध्ययन में कहा गया है कि आंत में फाइबर किण्वन के कारण एसीटेट के स्तर को कम किया जाना चाहिए, जो प्रीक्लेम्पसिया से जोड़ता है। प्री-प्रीक्लेम्पसिया एक ऐसी स्थिति है, जिसमें महिला के शरीर में ऐंठन जैसे कुछ लक्षण पाए जाते हैं, जैसे- हाइपरटेंशन या हाई ब्‍लड प्रेशर, मल संबंधी समस्‍या और गंभीर सूजन। 

गर्भावस्था के दौरान ऐसी स्थिति नहीं होनी चाहिए क्योंकि इससे बच्चे में खराब प्रतिरक्षा प्रणाली भी हो सकती है। जिससे बच्‍चे में एलर्जी, ऑटोइम्यून संक्रमण का खतरा हो सकता है। ऐसे में यदि गर्भावस्‍था में महिला हाई फाइबर से भरपूर आहार का सेवन करती है, तो न केवल प्री-प्रीक्लेम्पसिया के खतरे को कम किया जा सकता है, बल्कि बच्‍चे को कई तरह की बीमारियों से बचा सकती है।  

टाइप 2 डायबिटीज शरीर में हाई ब्‍लड शुगर लेवल के कारण होता है। ऐसे में यदि महिला फाइबरयुक्‍त आहार का सेवन करती है, तो यह एक प्रकार के आंत बैक्टीरिया के विकास में मदद करता है, जो शरीर में हाई ब्‍लड शुगर लेवल को कम करने व टाइप 2 डायबिटीज के खतरे को कम कर सकता है। ये आंत बैक्टीरिया शॉर्ट-चेन फैटी एसिड बनाने का काम करते हैं जिसका उद्देश्य है:

  • आंत कोशिकाओं को ऊर्जा प्रदान करना 
  • संक्रमण के खतरे को कम करना 
  • भूख को नियंत्रित रखना 
  • हाई फाइबरयुक्‍त आहार कोलोरेक्टल कैंसर के खतरे को कम करने में भी मदद करता है। अगर आप फाइबर युक्‍त आहार का सेवन करते हैं, तो कोलोरेक्टल कैंसर से होने वाली मृत्यु दर कम किया जा सकता है। शोध में बताया गया है कि अधिक फाइबर युक्‍त खाद्य पदार्थ खाने से पेट के कैंसर से होने वाली मृत्यु दर में बीस प्रतिशत की कमी आई है। साबुत अनाज फाइबर का अच्‍छा स्‍त्रोत है। 
  • हाई फाइबरयुक्‍त आहार मोटापे को दूर करने में बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसलिए वजन को कम करने का प्रयास करने वाले लोग अपनी डाइट में फाइबर से भरपूर खाने को शामिल करते हैं।  जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी के शोध के अनुसार कहा गया है कि फाइबर का सेवन मेटाबॉलिज्‍म संबंधी बीमारियों को रोक सकता है। मोटापा कई बीमारियों का मूल कारण है इसलिए इसलिए, फाइबर से भरपूर आहार कई अन्य बड़ी बीमारियों को रोकने में मदद कर सकता है।